Urdu Formats

Sher Shayari Kaise Likhe. 5 ग़लती जो हम लिखते वक्त करते हैं।

1 0
Read Time:5 Minute, 20 Second
Sher Shayari Kaise Likhe
How to write song

Sher Shayari Kaise Likhe. 5 ग़लती जो हम लिखते वक्त करते हैं।

Agar hum ye jaan le ke likhne me jo galtiya hoti hain vo na kren to hum likhna araam se seekh jayenge pehle aap ye padhe ki kya likhte waqt nhin krna hai.

c जिस के जरिए हम अपने दिल की बात किसी को भी एक ख़ूबसूरत तरीके से ज़ाहिर कर सकते हैं, हम लिखने वालो पे बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी होती है कि ऐसे लिखें कि दूसरों की बातें आ जाएं जैसे कोई पढ़े तो उसे लगे ये तो मेरी situation है। तो ऐसे में लिखते वक्त हमे ख़ास ध्यान रखना चाहिए कि लिखा हुआ दूसरो को समझ भी आए और उसे अपनी ओर खींचे भी। तो चाहिए शुरू करते हैं।

Sher Shayari Kaise Likhe. 5 ग़लती जो हम लिखते वक्त करते हैं।

  1. format ( लिखने का प्रकार)

हम लिखते है, बहुत कुछ लिखते हैं, मगर क्या हमे मालूम होता है हम जो लिख रहे हैं वो है क्या किस तरह का writing format है। जाएदातर हमे मालूम ही नहीं होता है हम किस फॉर्मेट में लिख रहे हैं जैसे 2 लाइन का शेर, 4 लाइन की शायरी/रूबाई, लंबी वाली ग़ज़ले नज़्में होती है, एंड format में लिखने का ये फायदा होता है कि हमे जब उसके rule पता होंगे तो हम उस बेहतर तरीके से लिख पायेंगे और पढ़ने वालों के दिल को छू जाएगी क्यूंकि कोई भी चीज जो एक तरीके से लिखी गई हो वो देखने में भी अच्छी लगती है और पढ़ने में भी। अगर आपको format सीखने हो तो आप हमारे about us में जाके सभी उर्दू के basic format सीख सकते हैं।

  1. Rhyming words (तुकबांदी)

कई बार ऐसा होता है कि हम लिखते तो बहुत ख़ूबसूरत है मगर पढ़ने वालों के दिल को छू नहीं पाती या हमे लगता है कुछ तो कमी रहे गई, वो इसलिए होता है क्यूंकि हम तुकबंदी पे ध्यान नहीं देते। तुकबांदी का असल मतलब होता है कि हर लाइन एक जैसे आवाज़ वाले शब्द पे ख़त्म हो जैसे।

उनसे मोहब्बत के सबक सीख के हमने
अपनी ही बर्बादी के सजाए थे सपने

देखा कितना अच्छा लगा तुकबांदी में लिखा हुआ (अपने,सपने)

कई बार हम तुकबांदी तो करते हैं मगर वो सही नहीं होती और हमे लगता है कि तुकबांदी तो की है फिर क्या कमी है जैसे यादों के साथ बातें लिख देते है मगर यादें (द) पे ख़त्म होने वाला शब्द है और रातें (त) पे ख़त्म होती है। इसका भी ख़ास ध्यान रखना चाहिए लिखते वक्त।

5 ग़लती जो हम लिखते वक्त करते हैं। Sher Shayari Kaise Likhe.

  1. line’s length ( लाइन की लंबाई)

ये ग़लती mostly हर कोई करता है, एक लाइन को बहुत छोटा और दूसरी को काफ़ी लंबा कर देते हैं, जिस से पढ़ने वाले को काफी booring लगता है और वो आगे पढ़ना पसंद नहीं करता। हमे ऐसे लिखना चाहिए कि हर लाइन एक बराबर दिखे इस से ये फायदा होगा कि एक तो से देखने में ख़ूबसूरत लगेगी और पढ़ते वक्त ये लगेगा की flow में लिखी गई है और कभी भी booring नहीं लगेगी जाएदतार। इसलिए जब भी लिखो कोशिश करो कि लफ्ज़ों को ऐसे लिखो की सभी लाइन में एक बराबर लफ्ज़ हों जैसे:- अगर एक लाइन में 9 या 10 लफ्ज़ है तो अगली लाइन में भी उतने है हो ये बेस्ट तरीका है।

  1. male female words (एक लफ़्ज़ को दूसरे ग़लत लफ्ज़ के साथ लिखना

ये ग़लती भी बहुत से लोग लिखते वक्त करते है, और सबसे बड़ी ग़लती है ये क्यूंकि इस एक ग़लती की वजह से पूरी शायरी की एक जो कशिश होती है वो ख़त्म हो जाती है पढ़ने में बहुत ही अजीब लगता है तो इस ग़लती से तो ज़रूर बचें जैसे:-

राहत कैसा
चाहत कैसा

राहत female word है
कैसा male word hai
ऐसे ही चाहत भी ऐसा होना चाहिए था कि
राहत कैसी
चाहत कैसी
ये तो बड़ी mistake हैं मगर बहुत सी छोटी छोटी सी mistakes भी होती है male, female word’s में उनका ख़ासतौर से ध्यान रखना।

5. plagiarism ( दूसरों की लाइन को इस्तेमाल करके)

इस मामले में बहुत से लोग ऐसा करते हैं कि किसी बड़े शायर के कलाम के कुछ शेर उठा के उन्हें अपनी शायरी में मिला लेते हैं ये करना गलत है किसी जानकर ने पढ़ा तो उसे लगेगा कैसे अपने पूरा कलाम उसका है लिखा है अगर ऐसा करना है तो उस शायर का नाम और उसकी लाइन्स को ज़रूर mention करो।

Urdu Formats:-

Shayari/Rubaai

Gazal

Nazm

Sher

Masnavi

Happy
Happy
53 %
Sad
Sad
13 %
Excited
Excited
13 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
20 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.