Deprecated: ltrim(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/b66iw6vgpr80/public_html/wp-includes/formatting.php on line 4369

Rose day Shayari | Valentine’s day 2022! Rose Shayari

Rose day Shayari | Valentine's day 2022!
Rose day Shayari | Valentine’s day 2022!

Rose day Shayari | Valentine’s day 2022! Rose Shayari

Valentine’s day प्यार करने वालों का महीना है, कहते है कि अगर किसी के दिल में प्यार हो तो वो इस महीने में इज़हार कर ही देता है, हर किसी का इज़हार का तरीका अलग अलग होता है। कोई गाना गा कर , कोई डांस करके, कोई रोमांटिक पार्टी देकर मगर सबसे जायदा असर करती है शायरी और मौके की शायरी जो दिलबर के सीधे दिल को छू जाती है

और आपके प्यार का उसे एहसास होने लगता है। और हमारी भी यही परेशानी होती है कि कैसे उसे अपने इश्क़ का एहसास दिलाएं, कैसे ज़ाहिर करें उसके बिना जीना ना मुमकिन है, बिना उसके कितना दर्द भरा हुआ है ज़िन्दगी में। कहते हैं अंदा हम सबको मालूम भी है गुलाब इश्क़ इज़हार के लिए सबसे पहले काम आता है। जब भी कोई आशिक़ किसी से इश्क-e- इज़हार करता है तो उसके हाथ में गुलाब ज़रूर होता है।

गुलाब के बिना इश्क़ अधूरा है इश्क़ का इज़हार अधूरा है। इस rose day को ख़ास बनाते हुए क्यू ना जिस से हम प्यार करते हैं उसे रोज़ डे पे 7 गुलाब पे शायरी सुना के एहसास दिलाएं अपने इश्क़ का। (Rose day Shayari | Valentine’s day 2022! Rose Shayari)

Hindi rose shayari
Rose day Shayari | Valentine’s day 2022!

1.
एक  दोस्ती का एक प्यार  का बता  तुझे  गुलाब दूं कौन  सा।
ज़िन्दगी पूछती है तू है कौन मेरी अब इसे जवाब दूं कौन सा।

ek   dosti  ka   ek  pyaar  ka  bta  tujhe  gulaab   doon  kon  sa.
Zindagi puchti hai tu hai kaun meri ab ise jawaab doon kon sa.

2. Rose Day Shayari
ना जाने कितने गुलाब कुचले ना जाने कितने मुरझाए।
क्या होगा  हाल हम भी  एक गुलाब  हैं तेरे वास्ते लाए।

Na jane kitne gulaab kuchle na jane kitne gulaab murjhaye.
kya  hoga   haal  hum    ek  gulaab  hain  tere  vaaste  laaye.

3.
लेकर  गुलाब  मेरा  तुम  भी  किसी  किताब  में  छुपा  लेना।
अपने रिश्ते कि इस शुरुआत को हमारे इश्क़ का नाम देना।

Lekar gulaab mera tum bhi Kisi kitaab mein chupa lena.
Apne is rishte ki shuruat Jo hamare ishq Ka naam dena

4.Rose Day Shayari
बाज़ार में वो गुलाब ना मिला जो तेरी पनाहों में आ सके,
देख  फिर  तेरे  वास्ते  मैं  आइना  लेकर  आया  हूं।

Bazaar mein vo gulaab na mila jo teri panaaho mein aa sake.
Dekh  phir  tere  vaaste  main  aaina  lekar  aaya  hoon.

5.
मेरे इस गुलाब  को लबो से छू ,मेरे इश्क़ को कुबूल  कर ले।
इस दोस्ती के रिश्ते को प्यार का नाम देने की भूल कर ले।

Mere is gulaab ko labo.n se chhu , mere ishq ko qubool kar le.
Is  dosti  ke rishte  ko  pyaar  ka  naam  dene  ki  bhuul  kar  le.

6.Rose Day Shayari
इज़हार करने को हूं जाने कब से, अए गुलाब तू मेरा इतना सा काम कर।
अपने रंग की लाली को बना मेरे इश्क़ की सियाही और उसकी मांग भर।

izhaar karne ko hoon jane kabse , aye gulaab tu mera itna sa kaam kar.
apne rang ki  laali  ko bana  mere ishq  ki  siyahi aur  uski  maang  bhar.

7.
गुलाब की पंखुड़ी में गुलाब के सुरूर में|
फना  हुए  हम  तेरे  इश्क़  के फितूर में|

Gulaab ki pankhudi mein gulaab ke suruur mein
Fanaa   hue   hum   tere   ishq   ke   fitoor   mein

Rose day Shayari | Valentine’s day 2022!

Dedicate a beautiful poetry to Chhaya

It has never been easier to impress someone

Read Propose day shayari click  here

Read more Blogs

3 thoughts on “Rose day Shayari | Valentine’s day 2022! Rose Shayari

Leave a Reply

Your email address will not be published.

शेर कैसे लिखें ? sher kaise likhen? Previous post Sher Kaise Likhen? शेर कैसे लिखें ? Sher Likhna Sikhiye.
Next post Propose day Shayari 2022! इश्क़ इज़हार ख़ूबसूरत शायरी से|