Deprecated: ltrim(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/b66iw6vgpr80/public_html/wp-includes/formatting.php on line 4369
mulaqat shayari

Mulakat Shayari in Hindi-जब देते हैं अधूरी मुलाकात देते हैं।

mulakat shayari in hindi // mulaqat shayari

Kabhi  usuulo  ki  vo  saugaat  dete  hain
Kabhi hijabo se  dhaki  vo raat dete hain

Rehte   hain  har  lamha  bechain betaab
Jab  dete hain adhuri  mulaqat dete hain

Humne  use  likha  apne khun-e-jigar pe
Aur vo hai taal meri  har  baat  dete hain

Kaho   unse   sitam   ke   bhi  hain usuul
Mila  ke nazar qatl kar ek sath dete hain

Taqte  rehte  yunhi  bina  kisi  khyaal  ke
Na kehte na  hath  mein hath dete  hain

Dil   milne   ke   ba wajuud   bhi  yaaron
Vo   sookhi-sookhi   barshat   dete  hain

mulakat shayari in hindi
mulakat shayari in hindi / अधूरी मुलाकात

जब देते हैं अधूरी मुलाकात देते हैं। mulakat shayari in hindi

कभी  उसूलों   की  वो  सौगात  देते  हैं।
कभी  हिजाबों  से  ढकी  वो रात देते हैं।

रहते हैं  हर  लम्हा  बे-चैन और  बेताब,
जब   देते  हैं  अधूरी मुलाकात  देते  हैं।

हमने  लिखा   उसे   खून-ए-जिगर  से,
और  वो   हैं  टाल मेरी  हर बात देते हैं।

कहो  उनसे  सितम   के   भी  हैं  उसूल,
मिला नज़र कत्ल कर एक साथ देते हैं।

तकते रहते यूंही बिना किसी ख्याल के,
ना हाथों  में  मेरे  अपना  हाथ  देते  हैं।

दिल   मिलने   के   बावजूद   वो  यारों,
सूखी-सूखी   हमें   बरसात    देते    हैं।

mulaqat shayari
mulaqat shayari / अधूरी मुलाकात

Bonus poetry

Jab  ishq kiya  to phir  ab ye  mahv-e-hairat  kaisi
Dooriyon ki wajah se bhula du to mohabbat kaisi

Ishq me  sajda karta hu  duaao  mein zikr yaar ka
insaan  bana  diya  is ishq  ne phir  shikayat  kaisi

Also Read narazgi shayari in urdu

किसी सूफ़ी कलाम सी तेरी परछाई
ढलती हुई सी रात ने बात ख़राब कर दी।
जब मेरा मुंसिफ ही मेरा क़ातिल हो।
हमने भी बेशुमार पी है ! नज़रों के प्यालों से।
तेरे हुस्न की तस्वीरों का आखिर …
इंतेजाम सब कर लिए सोने के अब नींद भी आ जाये तो करम होगा।
जिसे बनना ही ना हो आख़िर हमसफ़र किसी का।
क्या सितम है के उन्हें नजरें मिलाना  भी  नही  आता। 
खयालों में तो रोज़ ही मिलते हो आके।

viralwings.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.

urdu gazal in hindi Previous post Urdu Gazal in Hindi-किसी सूफ़ी कलाम सी तेरी परछाई।
zindagi sad shayari Next post Zindagi Sad Shayari-जिंदगी की हक़ीक़त कुछ यूं है मेरे हमदम-In Hindi