Deprecated: ltrim(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/b66iw6vgpr80/public_html/wp-includes/formatting.php on line 4369
mirza ghalib shayari in hindi hindi

Mirza Ghalib shayari in hindi / best shayari of mirza ghalib

Mirza Ghalib Shayari in Hindi Sad

mirza ghalib shayari in hindi hindi

In this Post you all have to read:-

1.mirza ghalib shayari in hindi
2.mirza ghalib dard shayari in hindi
3.best shayari of mirza ghalib in hindi
4.mirza ghalib heart broken shayari in hindi
5.mirza ghalib shayari in hindi text


1. Mirza ghalib shayari in hindi

दर्द मिन्नत-कशे-दवा’ न हुआ
मैं न अच्छा हुआ, बुरा न हुआ

जमा करते हो क्यों रक़ीबों को
इक तमाशा हुआ, गिला न हुआ

हम कहां क़िस्मत आज़माने जायें
तू ही जब खंजर-आज़मा न हुआ

कितने शीरीं हैं तेरे लब कि रकीब
गालियां खा के बेमज़ा न हुआ

है ख़बर गरम उनके आने की
आज ही घर में बोरिया न हुआ

क्या वो नमरूद” की खुदाई थी
बन्दगी में मेरा भला न हुआ

जान दी, दी हुई उसी की थी
हक़’ तो यूं है कि हक़ अदा न हुआ

ज़ख्म गर दब गया, लहू न थमा
काम गर रुक गया, रवा न हुआ

कुछ तो पढ़िये कि लोग कहते हैं
आज ‘गालिब’ ग़ज़लसरा” न हुआ।

Mirza Ghalib shayari


1. औषधि का अभारी 2. विरोधी 3. खंजर चलाने वाला 4. मीठे 5. बिस्तर आदि एक क्रूर बादशाह 7. सच 8. आरम्भ होना 9. ग़ज़ल कहने वाला।


2. Mirza ghalib dard shayari in hindi

मुद्दत हुई है यार को मेमां किये हुए
जोशे-क़दह’ से बज़्म-चिरागां किये हुए

करता हूँ जम्आ फिर जिगरे लख़्त-लख़्त को
अरसा हुआ है दावते-मिज़गां किये हुए

फिर वजहे- एहतियात से रुकने लगा है दम
बरसों हुए हैं चाक गिरेबां किये हुए

फिर गर्म- नाला हाय-शररबार’ है नफ़स
मुद्दत हुई है सैरे-चिराग़ां किये हुए

फिर पुर्सिशे- जराहते-दिल’ को चला है इश्क़
सामाने सदहज़ार नमकदां किये हुए

फिर भर रहा हूँ ख़ाम-ए-मिज़गां” ब ख़ूने-दिल
साज़े-चमन-तराज़िए-दामां किये हुए

बाहम” दिगर हुए हैं दिल-ओ-दीदा फिर रक्क़ीब
नज़्ज़ारा-ओ-ख़याल सामां का किये हुए


1. प्यालों की भरमार 2. जिगर के टुकड़े 3. पलकों की दावत 4. सावधानी के दुलिया 5. जलते हुए 6. दीवाली की सैर 7. दिल के पावों का छाल पूछना 8 लाखों नमकदानियां लेकर 9. पलकों की कलम 10. दामन में फूल खिलना 11. परस्पर


3.best shayari of mirza ghalib in hindi

फिर इस अन्दाज़ से बहार आई
कि हुए मेहूर-ओ-मह तमाशाई

देखो ऐ साकिनाने-ख़ित्त-ए-खाक
इसको कहते हैं आलम-आराई

कि ज़मीं हो गयी है सर-ता-सर’
रू कशे-सतहे” चर्खे – मीनाई

सब्ज़’ को जब कहीं जगह न मिली
बन गया रू-ए-आब पर काई

सब्ज़ा-ओ-गुल के देखने के लिए
चश्मे-नरगिस को दी है बीनाई”

है हवा में शराब की तासीर
बादानोशी है बादापैमाई

क्यों न दुनिया को हो ख़ुशी ‘ग़ालिब’
शाहे-दीं दार ने शिफ़ा पाई

Mirza Ghalib shayari


1. सूरज चांद 2. तमाशा देखने वाला 3. धरती पर रहनेवाले 4. संसार को संवारना 5. सर्वथा 6. सितारों से भरा हुआ 7. शराब के प्याले का घेरा 8. घास या हरियाली 9. रौशनी 10. आरोग्य


4.mirza ghalib heart broken shayari in hindi

बेएतदालियों’ से सुबुक सब में हम हुए
जितने ज़ियादा हो गये, उतने ही कम हुए

पिनहां था दामे-इश्क़ क़रीब आशियान के
उड़ने न पाये थे कि गिरिफ़्तार हम हुए

हस्ती हमारी अपनी फ़ना पर दलील है
यां तक मिटे कि आप हम अपनी क़सम हुए

सख़्ती कशाने-इश्क़ की पूछे है क्या ख़बर
वो लोग रफ़्ता-रफ़्ता सरापा अलम हुए

तेरी वफ़ा से क्या हो तलाफ़ी कि दहर में
तेरे सिवा भी हम पे बहुत से सितम हुए।

लिखते रहे जुनूं की हिकायाते-ख़ूचकां
हरचन्द इसमें हाथ हमारे क़लम हुए

अले- हवस की फ़तह है तर्के-नबदें-इश्क़’
जो पांव उठ गये, वही उनके अलम हुए


1. बदपरहेजियों 2. हलका 3. इश्क़ का ग़म सहने वाले 4. रक्तरज्चित कहानियां 5. प्रणय के संघर्ष का त्याग।


5.mirza ghalib shayari in hindi text

गयी वो बात कि हो गुफ्तगू, तो क्योंकर हो
कहे से कुछ न हुआ फिर कहो, तो क्योंकर हो

न हमारे ज़ेहन में इस फ़िक्र का है नाम विसाल
कि गर न हो, तो कहां जायें, हो, तो क्योंकर हो

अदब है और यही कशमकश तो क्या कीजै
हया है और यही गोमगो तो क्योंकर हो

तुम्हीं कहो कि गुज़ारा सनमपरस्तों का
बुतों की हो अगर ऐसी ही ख़ू तो क्योंकर हो

उलझते हो तुम, अगर देखते हो आईना
जो तुमसे शहर में हों एक-दो, तो क्योंकर हो

जिसे नसीब हो रोज़े सियाह” मेरा सा
वो शख़्स दिन न कहे रात को, तो क्योंकर हो

ग़लत न था हमें ख़त पर गुमां तसल्ली का
न मानें दीदा-ए-दीदारजू” तो क्योंकर हो

मुझे जुनूं नहीं ‘ग़ालिब’ वले बक़ौले- हुज़ूर’
फ़िराक़े- यार में तस्कीन हो तो क्योंकर हो

Mirza Ghalib shayari


1. मिलन 2. असमंजस 3. प्रेमी की पूजा करने वाले 4 आदत: 5. बुरा दिन 6. दर्शनाभिलाषी नेत्र 7. हुजूर के अनुसार (हुजूर यहां बादशाह ‘जफर’ को कहा गया है) 8. प्रिय से वियोग


Also Read:-

Miss You Shayari | Alone missing | One-Sided
Hindi Kavita | हिंदी कविता | Hindi Kavitayen best romantic sad.
Love English Poem, Sad English Poem, Alone English Poetry.
Hindi Poetry | world’s best poetry | all-time favorite Hindi poetry.
Shero Shayari in hindi Sher o Shayari शेरो शायरी Shero Shayari Status
sad Shayari in Urdu-Urdu sad Shayari in Hindi emotional
Bewafa shayari in hindi and urdu-best bewafa shayari for gf

Shayari for Bewafa gf – Hindi Urdu bewafa poetry for girlfriend

Want to Read More Interesting Blogs viralwings.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ek tarfa pyar ki dard bhari shayari Previous post Ek tarfa pyar ki dard bhari shayari – One-sided love sad poetry
mir taqi mir shayari in hindi hindi Next post Mir Taqi Mir Shayari in Hindi / best Shayari of meer taqi meer