Gazal

Emotional Shayari-जिस्म से जान, जान से जिस्म जुदा होते देखना है।

0 0
Read Time:3 Minute, 41 Second

emotional shayari / emotional shayari in hindi / emotional love sad shayari

Uske  daaman  se  hume  subah  hote dekhna hai
Jism se  jaan,  jaan se jism  juda  hote  dekhna hai

Bahut  suna  patthar  se  bana sanam khuda  Hua
Hume bhi apne sanam ko khuda hote dekhna hai

Duniya ko  parakhna  hai,  apno  ko  hai aazmana
Ahle wafa  ko  bhi yaha be-wafa hote dekhna hai

Be-intehaa   ishq   jatata  hai  wo  humse in  dino
Uske   is    ishq   ko    fanaa    hote    dekhna   hai

Ek shab mere qareeb ake  bikhar jaye bajuo mein
Ya  mere  allah  mujhe  ye  kya  hote  dekhna  hai

Sheikh sahab ka  imaan  bhi bhatakta  hua imaan
Saher ke  maeqado  mein sajda  hote dekhna hai

Bahut  gumaan  hai  tujhe teri  nazar  pe  Rehaan
Naqab  uthate nazar ko be-haya hote dekhna hai

emotional shayari / emotional shayari in hindi / emotional sad shayari /
emotional shayari / emotional shayari in hindi / emotional sad shayari /

emotional love shayari-In Hindi

बहुत सुना पत्थर से बना सनम खुदा हुआ,
हमें भी अपने सनम को खुदा होते देखना है।

दुनियां को है परखना, अपनों को है आजमाना,
अहल-ए-वफ़ा को बे-वफ़ा होते देखना है।

बे-इंतहा इश्क़ जताता है वो इन दिनों हमसे,
उसके इस इश्क़ को फना होते देखना है।

एक शब करीब आके बिखर जाए बाजुओं में,
या मेरे अल्लाह मुझे ये क्या होते देखना है।

शेख साहब का ईमान क्या भटकता हुआ ईमान,
शहर के मय-क़दों में सजदा होते देखना है।

बहुत गुमान है तुझे तेरी नज़र पे रेहान,
नकाब उठते ही नज़र को बे-हया होते देखना है।

Emotional shayari
Emotional shayari

Uske  daaman  se  hume  subah  hote dekhna hai
Jism se  jaan,  jaan se jism  juda  hote  dekhna hai

Bahut  suna  patthar  se  bana sanam khuda  Hua
Hume bhi apne sanam ko khuda hote dekhna hai

Duniya ko  parakhna  hai,  apno  ko  hai aazmana
Ahle wafa  ko  bhi yaha be-wafa hote dekhna hai

Be-intehaa   ishq   jatata  hai  wo  humse in  dino
Uske   is    ishq   ko    fanaa    hote    dekhna   hai

Ek shab mere qareeb ake  bikhar jaye bajuo mein
Ya  mere  allah  mujhe  ye  kya  hote  dekhna  hai

Sheikh sahab ka  imaan  bhi bhatakta  hua imaan
Saher ke  maeqado  mein sajda  hote dekhna hai

Bahut  gumaan  hai  tujhe teri  nazar  pe  Rehaan
Naqab  uthate nazar ko be-haya hote dekhna hai

emotional shayari / emotional shayari in hindi / emotional sad shayari /

emotional love shayari-In Hindi

बहुत सुना पत्थर से बना सनम खुदा हुआ,
हमें भी अपने सनम को खुदा होते देखना है।

दुनियां को है परखना, अपनों को है आजमाना,
अहल-ए-वफ़ा को बे-वफ़ा होते देखना है।

बे-इंतहा इश्क़ जताता है वो इन दिनों हमसे,
उसके इस इश्क़ को फना होते देखना है।

एक शब करीब आके बिखर जाए बाजुओं में,
या मेरे अल्लाह मुझे ये क्या होते देखना है।

शेख साहब का ईमान क्या भटकता हुआ ईमान,
शहर के मय-क़दों में सजदा होते देखना है।

बहुत गुमान है तुझे तेरी नज़र पे रेहान,
नकाब उठते ही नज़र को बे-हया होते देखना है।

Emotional shayari

Also Read urdu poetry for girlfriend

किसी सूफ़ी कलाम सी तेरी परछाई emotional sad shayari
ढलती हुई सी रात ने बात ख़राब कर दी।
जब मेरा मुंसिफ ही मेरा क़ातिल हो।
हमने भी बेशुमार पी है ! नज़रों के प्यालों से।
तेरे हुस्न की तस्वीरों का आखिर …
इंतेजाम सब कर लिए सोने के अब नींद भी आ जाये तो करम होगा।
जिसे बनना ही ना हो आख़िर हमसफ़र किसी का।
क्या सितम है के उन्हें नजरें मिलाना  भी  नही  आता। 
खयालों में तो रोज़ ही मिलते हो आके।

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.