Deprecated: ltrim(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/b66iw6vgpr80/public_html/wp-includes/formatting.php on line 4369
bewafa shayari in hindi

Bewafa shayari in hindi and urdu-best bewafa shayari for gf

bewafa shayari magar pyaar aaj bhi hai tujhse / Read Shushant Singh Rajput’s life’s poetry.

होगा किसी की रहगुजर में वो, किसी और के फसाने में।
तू फ़िक्र न कर, मिल गया होगा कोई और इस जमाने में।

ना है अब उसे ज़रूरत तेरी, बेवफ़ा निकली मुहब्बत तेरी,
ये तो रीत है दुनिया की खुश भला कौन रहता है पुराने में।

हाय तेरी ये मासूमियत और तेरी ये सादगी कमाल की,
फरेब सा नज़र आता है अब मुझे तेरे समझाने में।

क्यूं खेला मेरे इस दिल के साथ होकर किसी और का,
कह देते बस एक दफा दिक्कत हो रही है अब निभाने में।

हां माना शुरुआत मैंने की थी, इश्क पहले मुझे हुआ था,
आ गया मेरा ये दिल नादान सा तेरे दिल के फसाने में।

तू याद रखे मुझे है ना ऐसा नसीब इस रेहान का फकत,
मुझे अभी कई सदियां लगेंगी आए सनम तुझे भुलाने में।

मेरा तो हुआ वीरान ये दिल,हुआ बर्बाद मेरा हर एक ख़ाब,
क्या करूं तेरी माफी का कहते हो गई खता अनजाने में।

bewafa shayari in hindi
bewafa shayari in hindi

Bewafa Shayari in Hinglish

Hoga Kisi ki raheguzar me vo, kisi aur ke fasane me
Tu fikr na kar, mil gya hoga koi aur is jamane me

Na hai ab use zarurat teri, bewafa nikli mohabbat teri
Ye reet hai duniya ki Khush kaun rehta hai puraane me

Haaye teri ye masoomiyat ye saadgi kamaal ki
Fareb sa nazar aata hai ab mujhe tere samjhane me

Kyun khela mere dil ke sath hokar kisi aur ka bhi
Keh dete bas ek dafa dikkat ho rhi hai nibhaane me

Hn mana shururat maine ki thi ishq mujhe hua tha
Aa gya mera ye dil nadaan sa tere dil ke fasane me

Tu yaad rakhe mujhe hai na aisa naseeb is rehaan ka
Mujhe abhi kai sadiya lagegi sanam tujhe bhulane me

Mera to hua veeran ye dil, hua barbaad har ek khvaab
Kya kru teri maafi ka kehte ho, ho gai khata anjaane me

bewafa shayari in hindi
bewafa shayari in hindi

Also Read Urdu Gazal In Hindi

किसी सूफ़ी कलाम सी तेरी परछाई
ढलती हुई सी रात ने बात ख़राब कर दी।
जब मेरा मुंसिफ ही मेरा क़ातिल हो।
हमने भी बेशुमार पी है ! नज़रों के प्यालों से।
तेरे हुस्न की तस्वीरों का आखिर …
इंतेजाम सब कर लिए सोने के अब नींद भी आ जाये तो करम होगा।
जिसे बनना ही ना हो आख़िर हमसफ़र किसी का।
क्या सितम है के उन्हें नजरें मिलाना  भी  नही  आता। 
खयालों में तो रोज़ ही मिलते हो आके।

pyar ka izhaar shayari Previous post Pyar ka Izhaar Shayari-कर ही दिया इज़हार उस से डरते डरते।
sad shayari in urdu Next post Sad Shayari in Urdu-Urdu sad Shayari in Hindi Emotional